Post office saving scheme

 Post office saving scheme

 

भारतीय डाक विभाग द्वारा बचत को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार द्वारा बचत के लिए भारतीय डाक घर में विभिन्न तरह की योजनाओं को शामिल किया गया है जिससे हर व्यक्ति की हाय मैं बढ़ोतरी हुई और हर व्यक्ति के मन में बचत करने की आदत को डाला गया तो कुछ इसी प्रकार से भारतीय डाकघर द्वारा विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है



Post office saving account open


 पोस्ट ऑफिस में भी बैंक की तरह बचत खाता खुलवाया जा सकता है इसमें भी बैंक में ब्याज मिलता है उसी तरह पोस्ट ऑफिस के सेविंग खाते पर भी ब्याज दिया जाता है यहां पर मात्र ₹20 से खाता शुरुआती में खुलवाए जा सकता है और इस खाते पर न्यूनतम बैलेंस ₹50 रखना अनिवार्य हे

Post office  saving RD


 पोस्ट ऑफिस में एक आर डी नाम से खाता खुलवाया जाता है जिसमें हर महीने जमा पूंजी पर ब्याज खातेदार को मिलता रहता है उसको उसकी जमा रकम पर ब्याज उसके खाते में क्रेडिट हो जाता है जिससे रिकवरिंग डिपाजिट भी कहा जाता है यह खाता 5 साल के लिए खुलवाया जाता है खातेदार चाहे तो यह समयावधि बड़ा भी  सकता हैं

Post office ki monthali income scheme


 यह खाता पोस्ट ऑफिस में मंथली इनकम के नाम से बुलाया जाता है जिसमें उसकी जमा रकम पर हर महीने ब्याज मिलता रहता है यह खाता 5 साल की अवधि के लिए खुलवाया जाता है जिससे आगे भी बढ़ाया जा सकता है इस पर मिलने वाला ब्याज धारा 80 सी की तहत ब्याज मुक्त रहता है टैक्स मुक्त रहता है

PPf

  पीपीएफ खाता भी बैंक की तरह पोस्ट ऑफिस में भी खुलवाया जा सकता है बैंक की बैंक और पोस्ट ऑफिस इस खाते पर समान ब्याज मिलता है इस खाते की लॉकिंग पीरियड 15 साल का रहता है इसमें जमा राशि पर साल में एक बार मूलधन और ब्याज दोनों जुड़ जाते हैं फिर कुल रकम पर चक्रवर्ती ब्याज शुरू हो जाता है इसी तरह हर साल मूल रकम में ब्याज जोड़कर चक्रवर्ती में परिवर्तित हो जाता है यह खाता परिपक्व होने के बाद इसकी कुल रकम पर धारा 80 सी के तहत टैक्स फ्री रहता है इसका परिपक़्व समय  15 साल का होता है इससे पहले यह राशि निकालने पर 1% ब्याज पेनल्टी के रूप में देना होता है

SSA

 यह अकाउंट बालिकाओं के नाम पर डाकघर में खुलवाया जाता है कोई भी नागरिक यह खाता खुलवाने के लिए बालिका की उम्र 10 वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए और  दो बालिकाओं के नाम पर यह खाता खुलवाया जा सकता है यह खाता 15 साल के लिए होता है जैसे ही बालिका की उम्र 18 वर्ष होती है तब इस खाते से 50% राशि बालिका की पढ़ाई या शादी के लिए राशि निकाली जा सकती है पूरी तरह से खाता 21 वर्ष बालिका की उम्र होने पर पूरी रकम ब्याज सहित निकाली जा सकती है और हां इस जमा पूंजी पर मिलने वाला ब्याज धारा 80 सी के तहत टैक्स फ्री रहता है

Comments

Popular posts from this blog

Business ideas

How to earn money online free

Online earnings sites